शुंगलू कमेटी ने जब शीला सरकार पर 75 हजार करोड़ के भ्रष्टाचार का गंभीर आरोप लगाया तब केजरीवाल जी ने शीला दीक्षित से इस्तीफ़ा मांगा था. अब उसी शुंगलू कमेटी ने केजरीवाल सरकार पर गंभीर आरोप लगाया है तब 10 साल में 12 लाख करोड़ का घोटाला करने वाली कांग्रेस पार्टी अब केजरीवाल से इस्तीफ़ा मांग रही है. लेकिन मजे की बात यह है कि नैतिकता के आधार पर न तो शीलाजी ने इस्तीफ़ा दिया और न तो केजरीवाल जी इस्तीफ़ा दे रहे हैं.

इससे स्पस्ट है कि दोनों एक ही थाली के चट्टे-बट्टे हैं, चोर-चोर मौसेरे भाई! जिस प्रकार आम आदमी पार्टी के नेता अवैध कार्यों में लिफ्ट हैं – अवैध कब्ज़ा, अवैध ट्रांसफर, अवैध पोस्टिंग, अवैध नियुक्ति, अवैध डिग्री, अवैध सम्बन्ध आदि... उससे स्पस्ट है कि यह पार्टी अब अवैध आमदनी पार्टी बन गयी है.. अब इसका आम आदमी से कुछ लेना देना नहीं है... AAP का मतलब है अवैध आमदनी पार्टी!

Ashwini Upadhyay
Spokesperson
BJP Delhi
This email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it.