Subject : reliance tower fraud and forcly selling insurance policy

रेस्पेक्टेड सर

मेरा नाम पंकज सेवालाल चौहान है. मुझे मार्च  २०१६ में रिलायंस टावर डिपार्टमेंट से एक कॉल आई जिसका नंबर (८४४७०५३०४६ निशा) और (८८८२२९२७५६ गौरव) उन्होंने मुझे मेरे प्लाट पर रिलायंस टावर लगाने के लिए ऑफर दी,  यहाँ तक तो ठीक था, उन्होंने मुझे लाइट वेट टावर और हैवी ड्यूटी टावर की इंस्टालेशन प्रोसेस की सारी जानकारी बताई लेकिन उन्होंने (निशा) मुझे सबसे पहले रिलायंस लाइफ इन्सुरेंस की पालिसी लेने के लिए कहा.

मैंने उनसे पूछा कि पालिसी लेना जरुरी ही है क्या? निशा मैडम ने कहा की गवर्नमेंट से टावर की परमिशन के लिए एन.ओ .सी(NOC ) लेना जरुरी है, उसके लिए रिलायंस लाइफ इन्सुरेंस की पालिसी लेनी होगी, निशा मैडम ने मुझे हैवी ड्यूटी टावर लगवाने के लिए कहा, क्योकि कस्टमर ये टावर आसानी से लगवाते है, और उसके लिए मुझे ५०००० की पालिसी लेनी होगी, मैंने ये सुनते ही पहली बार असमर्थता दिखाई, लेकिन निशा मैडम ने मुझे फिर से कॉल करके पालिसी की अमाउंट ५०००० से ४०००० कर दी, मैंने उनसे कहा की मेरे पास इतने पैसे नहीं है, और सच में नहीं है, फिर निशा मैडम ने मुझे मेरे किसी दोस्त के पास से पैसे लेने के लिए कहा, और साथ में बार बार ये भी भरोसा दिलाया की, मेरे साथ कुछ गलत नहीं होगा.

निशा मैडम की सारी कमिटमेंट की फ़ोन रिकॉर्डिंग मेरे पास है, रेस्पेक्टेड सर मेरी (mother किरन सेवालाल चौहान ३८  की  २०/०१/२०१३ और father सेवालाल उदयराज चौहान  ४३ का ०९/०५/२०१३) को बीमारी से डेथ हो गई है, मेरा एक भाई (सूरज सेवालाल चौहान २२) और एक बहन (पूनम सेवालाल चौहान २४) जिसकी मैंने काफी समस्या में शादी कराई है, हमारी नहीं हुई है, मेरे माता-पिता के मौत के बाद सारी जिम्मेदारी मुझ पर आ गई, तब मैं cnc कोर्स कर रहा था, घर का टैक्स नहीं भरा गया है, जिसकी अमाउंट २६०००० हो गई, लाइट bill १२४०० है जो नहीं भरा गया है, नोटिस भी आई है, मैंने सोचा अगर रिलायंस टावर लगता है, तो मेरी काफी सारी समस्या खत्म हो जाएगी, मैं इलेक्ट्रॉनिक की शॉपी खोल दूंगा, पर ऎसा हुआ नहीं.

निशा मैडम ने मुझे नजदीकी रिलायंस लाइफ इन्सुरेंस में जाने के लिए कहा और मैं नजदीकी ब्रांच (Ground Floor The Premier Plaza Mall Mumbai-Pune Road Chinchwad 411019 Pune ,  MM , ब्रांच कोड ३२४ ) में गया लेकिन कुछ ही देर में निशा मैडम की कॉल आई और कहा की, वो रिलायंस की ब्रांच रजिस्टर्ड  नहीं है, लेकिन वो ब्रांच रजिस्टर्ड थी, निशा ने मुझ से पुणे की ब्रांच(105,  1st Floor,  ICC Trade Tower,  A Wing,  Senapati Bapat Marg,  Shivaji Nagar,  Pune  - ४११०११)में जाने के लिए कहा और मैं वहां गया, और निशा मैडम के बताये हुए, वहां प्रकाश सर से मिला, डॉक्यूमेंट देने के पहले मैंने निशा मैडम को कॉल किया और फिर से गारंटी की बात कही, निशा मैडम ने मुझे कई बार कमिटमेंट की और भरोसा दिलाया की मेरे साथ कुछ गलत नहीं हो रहा है,  २५/०३/२०१६ को डॉक्यूमेंशन के बाद मैंने स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया अकाउंट नंबर (३२२६१८७२२७३)चेक नंबर (९९९६५८) ४००००/- की अमाउंट का चेक दिया.और वो ४००००/- मैंने एक दोस्त के पास से इंट्रेस्ट ४५००/- हर महीने पर लिया, और पालिसी खोल दी, मुझे पालिसी का बांड बाई पोस्ट(१५/०४/२०१६, कॉन्ट्रैक्ट नंबर ५२५९६९१८, क्लाइंट id ९५६०६००४, एजेंट नाम श्रीधर इन्सुरेंस ब्रोकर pvt ltd , एजेंट/ब्रोकर कोड २२१३०८०१)है. रेस्पेक्टेड सर मैंने निशा मैडम को काफी कॉल की लेकिन उन्होंने मेरी कॉल नहीं recive की मैंने बार बार कॉल की लेकिन कोई रेस्पोंस नहीं मिला.

एक दिन ८४४७०५३०४६ ने मेरी कॉल recived  की और अब वहां निशा नहीं( पंकज सिंह )बात कर रहे थे, पहली बार मेरे पूछे जाने पर पंकज सिंह ने कहा की, निशा मैडम को चिकन पॉक्स हो गया है और दूसरी बार पंकज सिंह ने कहा की, निशा मैडम आपकी कॉल इसलिए नहीं उठा रही है, क्योकि उन्हें शर्मिंदगी  महसूस हो रही है, और पंकज सिंह ने एक बार फिर मुझे ऑफर दिया (३२०००/-) की भारतीय अक्सा लाइफ इन्सुरेंस  की पालिसी खोलो, मैंने उनसे पूछा क्यों?तो उनका जवाब ये था, , क्या है छोटी मोटी प्रॉब्लम हो जाती है, और आपका एडवांस अमाउंट (१२०००००) है, जिसका ६% गवर्नमेंट को टैक्स देना होता है, जिसकी अमाउंट ७२०००/- हो रही है आप ३२०००/-की पालिसी अगर लेते है तो मैं ११०%टावर का काम करवा दूंगा. मैंने कहा की ये बात मुझे अगर पहले बताते तो मैं decide करता की मुझे पालिसी लेनी है या नहीं,  पंकज सिंह ने कहा पालिसी लेनी हो तो ही कॉल करना, मैंने कॉल नहीं की क्योकि वो लोग नहीं उठा रहे थे, कुछ दिनों बाद फिर मुझे लैंड लाइन नंबर (+९१११३३६८८३००,  ०२ / ०५ / २०१६,  नाम अज्ञात) से टावर इंजीनियर की कॉल आई और उसने फ्राइडे या ११०% मंडे को विजिट की बात कही लेकिन वो आज तक नहीं आया.

मेरी चिंता बढ़ने लगी. कुछ दिनों के बाद एक नंबर (९९९९१४०८२४ सिद्धांत रिलायंस)से कॉल आई और मैंने उनसे सारी बात बताई और उन्हें ८४४७०५३०४६, ८८८२२९२७५६ ये नंबर sms किया, उन्होंने कहा की चेक करके बताता हु की वो रिलायंस टावर से है या नहीं, सिद्धांत सर ने मुझे शाम को कॉल करके ये बताया की, वो लोग निशा और गौरव रिलायंस टावर dep .से ही है, गलत लोग नहीं है, नहीं तो मैं ही पालिसी केंसल कर देता, ऐसा कहा.मैंने सिद्धांत सर को, बांड मिलने के  १० वे दिन कॉल किया, उन्होंने कहा मैंने एक बार पालिसी केंसल रिक्वेस्ट इ मेल से सेंड कर दी तो, तुम्हारी टावर की प्रोसेस स्टॉप हो जाएगी, और प्रॉब्लम हो जाएगी, जब पंकज जी आप इतने दिन रूक गए है तो और थोड़े दिन रूक जाओ, अभी ब्रांच में पालिसी केंसल मत करवाओ,

रेस्पेक्टेड सर जी मुझे पता था की पालिसी का फ्री लुक पीरियड १५ दिनों का होता है.मैंने ये बात भी  सिद्धांत से कही, लेकिन उन्होंने कहा की, पंकज जी आपकी पालिसी एक महीने के बाद भी केंसल होगी और इस तरह सिद्धांत और निशा मैडम ने मुझे पालिसी कैंसिल नहीं करने दिया, मेरे पास उनलोगो की सारी कॉल रिकॉर्डिंग, इ मेल टावर अग्रीमेंट की कॉपी सेव है, फिर कस्टमर केयर में कॉल करके मैंने उनकी सारी कॉल रिकॉर्डिंग की cd बनाके रिलायंस ब्रांच में  23/05/२०१६ को कैंसलेशन रिक्वेस्ट कंप्लेंट करके रिवर्ट रिसिप्ट ले ली, ७ से ८ दिनों के बाद मुझे +९१२२३९२९५३०० से कॉल आई और उन्होंने कहा की मेरी पालिसी केंसल नहीं हो सकती.  

रेस्पेक्टेड सर मैंने IRDA में शिकायत की लेकिन उनलोगो की कंप्लेंट सुनने की शक्ति खत्म हो गई है. रेस्पेक्टेड सर मैं अब तक १३५००/-का इंट्रेस्ट भर चूका हु, क्योकि मेरे पास बिलकुल भी
इतने पैसे नहीं है की मैं ४००००/- return कर सकु, मैं काफी ज्यादा परेशान हो रहा हु, मुझे कुछ समझ में नहीं आरहा है, मैं चाहता हु ऐसे लोगो पर क़ानूनी कार्यवाही की जाये ताकि दुबारा ऐसा न हो सके.इसके लिए जहां तक मुमकिन है, रिलायंस का मैनेजमेंट सिस्टम ही जिम्मेदार है.ये लोग ac में बैठ कर ईमानदार लोगो को, लोन टावर, बोनस, इन्वेस्टमेंट के नाम पर फ्रॉड कर रहे है, इनपर गवर्नमेंट को एक्शन लेना ही होगा,  मैं पंकज सेवालाल चौहान आपसे रिक्वेस्ट करता हु की प्लीज आप एक्शन जरूर ले.

आपका भरोसेमंद
पंकज सेवालाल चौहान
mob.no. 9922599418
This email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it.