भोपाल । देश में अब केबल और टेलीविजन पर किसी भी रुप में पशुओं के प्रति क्रूरता या हिंसा चित्रित नहीं की जा सकेगी तथा पशुओं के लिये अपहानि कारित करने वाले अवैज्ञानिक विश्वास को प्रोत्साहित नहीं किया जा सकेगा और न ही इससे संबंधित विज्ञापन दिखाये जा सकेंगे। इस संबंध में केन्द्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने केबल-टेलीविजन नेटवर्क नियम 1994 में संशोधन कर इसे पूरे देश में लागू कर दिया है।